जो हासिल नहीं होता, बस वही याद रह जाता है बाकी देती तो बहुत कुछ है ज़िंदगी

जो हासिल नहीं होता, बस वही याद रह जाता है बाकी देती तो बहुत कुछ है ज़िंदगी