Mohabbat Shayari in Hindi | मुहोब्बत | | Mohabbat Poetry
Back to Articles

Mohabbat Shayari in Hindi | मुहोब्बत | | Mohabbat Poetry

40 views • Oct 27th, 2020

साथियों नमस्कार, आज हम आपके लिए कुछ खास शायरियां और कविताएँ Mohabbat Shayari in Hindi लेकर आएं हैं जो आपके प्रेम के सागर में गोंतें लगाने को मजबूर कर देगी|  प्यार, मुहोब्बत, इश्क खुदा का इन्सान को दिया गया वह नजराना है जिससे इन्सान खुद को जानवरों से अलग मानता है|

हालाकिं जानवर भी हमसे या दुसरे जानवरों से मुहोब्बत करते हैं, लेकिन मुहोब्बत को बयां करने का जो हुनर इंसानों के पास है वह दुनियां में और किसी के पास नहीं| ऐसा ही एक हुनर है शायरी, शब्दों को एक अलग ही जादुई ढंग से पिरोकर बनाया गया एक खास अल्फाज़ जो दिल से निकले और सीधा किसी के दिल में उतर जाए| कुछ ऐसे ही अल्फाजों को पिरोकर आपके बिच हम लेकर आए हैं हमारी खास शायरी…..


Mohabbat Shayari in Hindi | मै तुझमे अपना वजूद ढूँढता हूँ

 

तुझमे अपना वजूद ढूँढता हूँ,
हर वक़्त तेरा ख्याल आता है…
जैसे कोई अनबूझा सा सवाल आता है||

मै खुद मे ही खोया रहता हूँ,
ऐसे तो कभी खुद को खोया नहीं…
जैसे मै खुदगर्ज सा हो गया हूँ, में तुझमे अपना वजूद ढूँढता हूँ||

आइने सी तुम पास आकर निखर जाना,
मै धूप सा तुझमे बिखर जाऊंगा,
तुम रुख मोड़ दो मेरे हवाओं का…
मै हवाओ सा तुझे छु कर महसूस करता हूँ, मै तुझमे अपना वजूद ढूँढता हूँ||

खामोश रहूँ तो समझ जाना खामोशी मेरी,
मेरी खामोशी भी मेरी अल्फाज़ होती हैं…
सब कुछ कह जाऊँ प्यार में तुम्हें… इतने तो मेरे प्यार की दावेदारी नहीं,
पर तुझ पर यकीन आख़ बंद कर करता हूं, क्योंकि मैं तुझमे अपना वजूद ढूँढता हूँ||

रेत सी जिंदगी है पल पल फिसल रही हाथों से तेरे,
मुट्ठी भर का साथ रहे, तो जी लूँगा साये में.

Read more at Hindi Short Stories