What is SERP in Hindi? इससे वेबसाइट की Performance कैसे Improve करें ?
Back to Articles

What is SERP in Hindi? इससे वेबसाइट की Performance कैसे Improve करें ?

38 views • Oct 02nd, 2020

SERP Meaning

SERP में जो रैंक होता है उसे page rank भी कहाँ जाता है. यदि आपकी साईट का page rank high होगा उतना ही आपकी वेबसाइट के pages सर्च रिजल्ट में पहले page पर display होगे. जिससे वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आएगा.

आपने देखा 80% से ज्यादा लोग ऐसे है जो पहले पेज में सर्च करने के बाद दुसरे पेज पर नही जाते. इसलिए अपनी वेबसाइट को first page पर लाना बहुत जरूरी हो जाता है.

Search Engine तीन प्रकार से listings को SERPs में display करता है.

जिसे सर्च इंजन spider द्वारा indexed कर दिया जाता है.

जिसे सर्च इंजन में किसी यूजर के द्वारा indexed किया जाता है.

वो listings जिनके लिए पैसे दिए गये है सर्च इंजन में लिस्ट करने के लिए.

सर्च इंजन में लिस्ट करने के लिए एक ब्लॉगर को Schema, Structured Data & Rich Snippet के बारे में जानकारी होना अति जरूरी है. इनकी knowledge न होने के कारण वो confusion में रहते है अपने वेबसाइट के डाटा को show करने में.

जैसा आप देखते होगे हर सर्च इंजन रिजल्ट को organic और sponsored रिजल्ट के साथ rich snippet के साथ show करता है. सभी ब्लॉगर को ये भी लगा रहता है कि rich snippet पर रिजल्ट कैसे लाया जाये.

अब सर्च इंजन ने searcher की need के according कम टाइम में ज्यादा इनफार्मेशन show करने के लिए serp को upgrade किया जिससे आज के serp में आपको rich snippet और sponsor result देखने को मिलता है.

SERP (Search Engine Result Pages) काम कैसे करता है (How  works SERP )

SERP सभी unique होते है चाहे उन्हें keyword और सर्च query के इस्तेमाल से एक ही सर्च इंजन में सर्च किया जाये.

search engine यूजर के according या उसके अनुभब के आधार पर रिजल्ट को display करता है.

SERP में दो प्रकार के result display होते है

  • Organic Results
  • Paid Results

Organic Results

Organic Results उन Pages को कह सकते है जो सर्च इंजन के Algorithm के अनुसार appear होते है। जो Seo Professional होते है वो हमेशा वेबसाइट को हाई रैंक लाने के लिए seo ऑप्टीमाइज़्ड करते है ताकि उनकी वेबसाइट के कंटेंट का organic सर्च हो. वह Organic Results पर ज्यादा काम करते है।

          कुछ SERPs दुसरो के मुकाबले Organic रिजल्ट display करते है. ऐसा इसीलिए है क्योंकि अलग अलग searches पर अलग अलग intent होता है. primary टाइप इन्टरनेट searches को हम तीन भागो के अंदर बाँट सकते है -

  • Informational
  •  Navigational
  • Transactional

Informational searches उसे कहा जाता है कि जिससे user को ये लगता है कि वो kisi भी टॉपिक पर इनफार्मेशन को सर्च कर लेंगे. ये low commercial intent होते है इसलिए इस पर प्रकार के intent पर ads लगाने का मतलब भी नही रहता.

Navigational searches उस searches को कहा जाता है जहाँ user kisi specific वेबसाइट को टारगेट करता है मतलब use यदि वेबसाइट का पूरा url मालूम न हो और उसे वो सर्च इंजन में find करने की कोशिश कर रहा हो.

Transactional searches उसे कहाँ जाता है जहाँ paid रिजल्ट serps में display किये जाते है. ये searches high commercial intent होते है. ये कुछ ऐसे keywords है जिससे user कुछ खरीदने की चाह रखता है जैसे buy.

Paid Result

Paid Results में रिजल्ट को सर्च इंजन में display होने के पैसे दिए जाते है। यदि पहले की बात की जाये तो advertisement के द्वारा paid result text based ads हुआ करते थे जिसे आर्गेनिक result के ऊपर प्रदर्शित किया जाता है.

paid रिजल्ट को वही लोग इस्तेमाल करते है जिनके पास इन्वेस्टमेंट करने के लिए पैसे है. ये आर्गेनिक की तुलना में बहुत ज्यादा costly है.

Read more at Blogger Key